Author: Narender Poonia

I Am Going To Rajasthan My Fvarite Place

आज मैं अपनी बाइक लेकर फिर से टाइपिंग करने निकला हूं

और आज हम लोग जाने वाले हैं मुंबई से राजस्थान मेरा ट्रैवलिंग करने का यही मकसद है

कि अलग-अलग लोगों के बीच जाकर उनकी मनमोहना को पहचान और उनके रहन-सहन आदि के बारे में जानना,

और किस परिस्थितियों के अंदर अपना जीवन यापन कर रहे हैं उन परिस्थितियों को समझना,

ही मेरा ट्रेवलिंग करने का उद्देश्य है और इसी उद्देश्य को लेकर आज मैं मुंबई से राजस्थान की ओर जा रहा हूं

राजस्थान एक मरुस्थलीय क्षेत्र है इसलिए वहां पर,

लोगों की जीवन यापन हमारे राज्य से बहुत अलग है और वहां पर फसलें भी हमारे राज्य से विपरीत बोई जाती है।

दोस्तों मुंबई से राजस्थान का सफर है लगभग 18 किलोमीटर और,

लगभग हम कल दोपहर 2:00 बजे तक राजस्थान में प्रवेश कर जाएंगे RAJASTHAN में मेरा एक दोस्त रहता है

हम उसके पास जाने वाले हैं और कुछ दिन उसके साथ ही,

रहेंगे और देखते हैं कि उन दिनों में हम किन किन जगह हम ,

पर भ्रमण करेंगे और किन-किन स्थानों पर हमें अच्छे दृश्य देखने को मिलेंगे।

I Am Coming In Rajasthan

  • दोस्तों मैं राजस्थान के अंदर प्रवेश कर चुका हूं मैं सबसे पहले बाड़मेर जिले में प्रवेश किया है।
  • यहां का वातावरण हमारे राज्य से बहुत ही अलग है जैसा,
  • कि मैंने आपको पहले ही बता ही दिया कि यह मरुस्थलीय छत्र है जिस कारण की आम पर गर्मी का प्रभाव भी ,
  • हमें बहुत अधिक देखने को मिल जाता है
  • और कर्क रेखा बीए बाड़मेर से होकर निकलती है जिस कारण,
  • कि यहां का तापमान भी बहुत ज्यादा है।बाड़मेर में ज्यादातर,
  • बाजरे की खेती की जाती है क्योंकि बाजरे में ज्यादा,
  • पानी देने की आवश्यकता नहीं होती है और 1 होने के बादयहां पर बाजरे का,
  • उत्पादन बहुत ही आसानी से हो जाता है यहां पर ज्यादातर पशुओं को पेड़ों के पत्ते ही खाने को मिलते हैं।
  • यहां का पिन नावा हमारे राज्य के लोगों के पहनावे से बहुत ही अलग हैअब हम ,
  • अपने दोस्त के घर पर आ चुके हैं और कुछ दिनों तक हम यहां,
  • पर आएंगे इसके साथ ही हम बहुत सारे जगहों का भ्रमण करेंगे ,
  • और लगभग 5 से 7 दिन के बाद हम यहां से वापस मुंबई के लिए ,
  • रवानगी लेंगे। तो दोस्तों अभी हम भ्रमण करना स्टार्ट करते हैं।
  • दोस्तों हमने यहां पर लगभग 500 दिन बिता लिया है और हम,
  • बहुत सारी जगह पर भ्रमण करके आए हैं जैसा कि,
  • चुनार किला ताजमहल आदि लोगों पर हम घूमने गए थे वहां पर हमें बहुत अच्छा दृश्य देखने को मिला

I am Going to Mumbai

दोस्तों हमें Rajasthan में भ्रमण करके बहुत अच्छा लगा हम बहुत सारे जिलों में जाकर अलग-अलग स्थानों का भ्रमण किया अब बारी आ गई है

हमारी वापस मुंबई जाने की मैं कल सुबह 10:00 बजे यहां से निकलूंगा मुझे यहां से जाने का बिल्कुल भी मन नहीं कर रहा है परंतु यहां से जाना मेरी मजबूरी है

दोस्तों आपको राजस्थान का भ्रमण कैसा लगा कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताना।

I bought new home

दोस्तों आपको तो पता ही होगा यह हर व्यक्ति का सपना होता है एक नया घर खरीदना वैसे भी मेरा यह बचपन से एक सपना था बड़े होकर मेहनत करना और अपने माता-पिता की सेवा करना है। मैंने भी अपनी कमाई से एक नया घर लिया है। यंगर मुझे थोड़ा महंगा पड़ा परंतु मेरी फैमिली के हिसाब से अगर मुझे सही लगा। इस घर की डिजाइन इंजीनियर के द्वारा तैयार की गई। हम आज ही अपने नए घर में शिफ्ट होने वाले हैं। अब हमें अपनी जरूरी सामान की पैकिंग कर रहे हैं उसके बाद शुभ मुहूर्त पर हम लोग अपने नए घर में शिफ्ट होंगे। तो अब हमने अपना सारा सामान पैक कर लिया है अब हम अपने नए घर की ओर प्रस्थान करने के लिए तैयार हैं।

Going to new home

हम सभी लोग नए घर की तरफ जा रहे हैं हमारा सामान है जो पीछे ट्रक में आ रहा है।हमने अपना नया कर एक कॉलोनी में लिया है और वह घर बहुत ही बड़ा है। हमारे पुराने घर से हमने कुछ सामान लिया है और हमारे नए घर में भी बहुत समान है बस कुछ जो हमारी विशेष चीजें थी हमने उन्हीं को अपने साथ लिया है। और हम सभी लोग बहुत खुश भी हैं और बहुत उदास भी हैं क्योंकि हम ने एक नया घर ले लिए हैं सबसे खुशी की बात है परंतु हम अपने पुराने घर को छोड़कर जा रहे हैं पुष्कर के साथ बहुत सारी हमारी यादें जुड़ी हुई है जो कि हमें हर पल सताएगी इसके साथ ही हमारे पुराने पड़ोसी भी हमें बहुत याद आएंगे यह दुख का कारण है। परंतु मनुष्य के जीवन में सुख और दुख चलता रहता है इसी इसी कारण हम दुखी नहीं हो रहे हैं। तो दोस्तों मेरा नया घर आ चुका है।

My new home is sweet

दोस्तों मेरा नया घर दिखने में बहुत ही सुंदर है और बहुत ही बड़ा है इसमें बहुत बड़े-बड़े होल है और लगभग 5 से 6 बड़े बड़े कमरे हैं इसमें बैठने के लिए सोफे भी लगे हैं। और हर एक कमरे में टीवी भी लगा हुआ है। रसोई घर भी बहुत बढ़िया है और बहुत बड़ा भी है। इसमें एक छोटा सा गार्डन भी बना हुआ है और उसमें डूब भी लगी हुई है जिस पर कि हम धूप सेकने के लिए सकते हैं।और इसमें ऊपर जाने के लिए स्विफ्ट भी दी गई है जो कि हमारे लिए सबसे मजेदार बात है। ज्यादातर सिर्फ हमें बाहर देखने को मिलती है परंतु यह हमें अपने घर में देखने को मिली है। इसलिए हमें बहुत खुशी हो रही है। अभी पंडित जी आने वाले हैं उसके बाद हम पूजा करेंगे और उसके बाद अपना सामान अपने घर में रखेंगे थोड़ी देर में पंडित जी आने वाले हैं। दोस्तों अब हमने अपनी पूजा खत्म कर दी है। अब बारी आती है। हमारे सामन को अपने न्यू होम में स्विफ्ट करने की दोस्तो आज हम सब बहुत खुश है। अभी तक तो हम लोग यहां पर किसी को जानते भी नहीं है। धीरे धीरे सबको जानने लग जाएंगे। मेरे घर के आस पास का वातावरण बहुत ही अच्छा है और चारों तरफ पेट लगे हुए हैं। जो कि वातावरण की सुंदरता को बढ़ा देते हैं। इसके साथ ही यहां पर कुछ फूलों के पौधे भी लगे हुए हैं।

my drim my new car

दोस्तो मेरा बचपन से ही एक कार खरीदने का सपना था। मुझे कार चलाना बहुत पसंद है। और आज मेरा सपना पूरा हो गया क्युकी आज में नई गाड़ी लेने वाला हूं। आज में मारुति सुजुकी का टॉप मॉडल लेने वाला हु। में आज इतना खुश हूं की में आपको बता नहीं सकता तो चलिए अब हम अपने शोरूम की तरफ चलते हैं और चलकर हमारी गाड़ी को देखते हैं।

Go To shoroom

अपन लोग गाड़ी लेने के लिए शोरूम की तरफ रवाना हो गए अभी मेरे साथ मेरा भाई है। गाड़ी का shorom हमारे घर से 50 किलोमीटर दूर है। हम अभी शोरूम जानने के लिए घर से बाइक लेकर निकल गए हैं। लगभग आधे घंटे के बाद हम शोरूम में पहुंच जाएंगे। तो दोस्तों हम शोरूम के अंदर आ चुके हैं कुछ कागजी कार्रवाई है जिनको भी पूरा करना है उसके बाद हमारी नई गाड़ी को हम अपने साथ लेकर जाएंगे जैसा कि आप सभी को पता ही होगा कि नवरात्रि चल रहे हैं वह नवरात्रों में सामान खरीदना बहुत ही शुभ होता है तुम्हारे लिए गाड़ी खरीदने का अच्छा अवसर और हो नहीं सकता था हमने अपने कागजी कार्रवाई को पूरा कर लिया है।

Go To Home

तो दोस्तों अब हम गाड़ी लेकर अपने घर की ओर रवाना हो गए हैं। हमें घर जाते समय बहुत खुशी हो रही है कि हमारा सालों से देखा गया सपना सच हो चुका है। घर पर जाने के बाद हम इस पर क्लिक करेंगे और साथ ही में अपने दोस्तों के साथ गाड़ी चलाने का आनंद लेंगे मेरे बहुत सारे दोस्तों के पास लगभग गाड़ियां हैं एक मैं ही बचा था अकेला और आज मैंने भी अपनी एक नई गाड़ी ले ली है। जैसा की आप सभी को पता ही होगा कि मैं एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूं। और यह गाड़ी मैंने अपने खुद की सैलरी से ली है। इस गधे को लेने में मेरे घर वालों का कोई भी खर्चा नहीं आया है यह गाड़ी मैंने अपनी खुद की मेहनत के दम पर खरीदी है।

At home

तो दोस्तों अब हम लोग घर पर आ चुके हैं हम सभी बहुत खुश हैं। अभी मेरी मां गड्डी को तिलक करने के लिए थाली तैयार कर रही है जैसे ही थाली तैयार हो जाती है उसके बाद हम गाड़ी पर तिलक करेंगे और उसके बाद शाम को हम लोग लॉन्ग ड्राइव पर चलेंगे आज का दिन हमारे लिए बहुत ही मजेदार आने वाला है। तो दोस्तों मां ने गाड़ी को तिलक कर दिया है। अभी हम लंच करेंगे उसके बाद फ्रेश होकर लॉन्ग ड्राइव पर चलेंगे। दोस्तों अभी वक्त हो चुका है श्याम के लगभग चार बज चुके हैं। मेरे दोस्त कॉल करके पूछ रहे हैं कि गाड़ी कैसी है चलाने में और गाड़ी लेकर हमारे पास कब आ रहा है। मैंने अपने दोस्तों को कल का टाइम दिया है क्योंकि अभी मैं अपने परिवार के साथ लॉन्ग ड्राइव पर जा रहा हूं।दोस्तों शाम के 4:00 बज चुके हैं अब हम सभी लोग लॉन्ग ड्राइव पर जाने के लिए एकदम तैयार हैं अभी हम लॉन्ग ड्राइव पर चलेंगे। दोस्तों मे अपने पूरे परिवार के साथ गाड़ी में बैठ कर लॉन्ग ड्राइव पर जा रहा हूं यह गाड़ी चलाने में बहुत ही सरल है और इसमें बहुत से फीचर्स भी दिए गए हैं जिस कारण कि हर कोई इस गाड़ी को खरीदना चाहता है यह गाड़ी एक मध्यम वर्ग के लिए बहुत ही सस्ती व लाभदायक है। मुझे गाड़ी चलाने में बहुत ही आनंद आ रहा है इन्हें गाड़ी चलाते समय सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा है। अभी हम लोग खाना खाने के लिए एक होटल में जा रहे हैं उसके बाद हम चिड़ियाघर देखने जाएंगे और उसके बाद हम थोड़ा इधर उधर घूमेगे।तो दोस्तों बातों ही बातों में हम होटल पर आ गए हैं यहां पर अभी थोड़ा खाना खा लेते हैं उसके बाद हम चिड़ियाघर देखने चलेंगे दोस्तों हम खाना खाकर बाहर आ चुके हैं और अब चिड़िया घर की तरफ जा रहे हैं वहां पर हमें बहुत सारे पशु पक्षी देखने को मिलेंगे जिन्हें देखने से हमारा मन शांत होगा और हमें बहुत सुंदर भी लगेगा यह अंदर से बहुत ही आनंद दायक है। दोस्तों सभी जगह घूम फिर कर हम लोग वापस घर पर आ चुके हैं और मुझे थोड़ी थकान भी महसूस हो रही है तो दोस्तों हमारा आज का दिन आपको कैसा लगा कमेंट बॉक्स में जरूर बताइए।

How to prepare organic manure at home

किसान भाइयों आज हम बात करने वाले हैं कि हम जैविक खाद को घर पर किस तरह से बना सकते हैं जैविक खाद को घर पर तैयार करने के निम्नलिखित फायदे हैं सबसे पहला फायदा तो यह है कि यदि हम जैविक खाद को घर पर बनाते हैं तो यह सबसे कम खर्चीला होता है और दूसरा फायदा यह है कि इसमें सभी आवश्यक पोषक तत्व विद्यमान होते हैं। जो कि हमारी फसल के पौधे को सहायता प्रदान करता है जिससे कि पौधा की पैदावार बहुत अधिक होती है। आज हम यही चर्चा करेंगे कि हम जैविक खाद घर पर कैसे बना सकते हैं जैविक खाद के भी बहुत प्रकार होते हैं उनमें से कुछ प्रकारों पर हम अभी चर्चा करने वाले हैं तो कौन-कौन से वह तरीके है जिसके माध्यम से हम जैविक खाद बना सकते हैं चलिए सीखते हैं।

Cow dung

आज के वर्तमान युग में गोबर खाद हमारी जमीन के लिए बहुत आवश्यक है आपको तो पता ही होगा कि हम खेती के साथ-साथ पशुपालन भी करते हैं पशु गोबर के रूप में अपना अपशिष्ट पदार्थ बाहर निकालते हैं। जिसमें कि बहुत सारे पोषक तत्व विद्वान होते हैं और यह है हमारी जमीन की ओर क्षमता को बहुत अधिक बढ़ा देता है और इसका कोई भी नुकसान भी नहीं है जिससे कि हम बिना डरे गोबर खाद को अपनी जमीन में बहुत ही आसानी से छिड़क सकते हैं। इसके अलावा भी बहुत सारी खाद आपको देखने को मिल जाएगी जैसे मुर्गा की खाद आदि यह सभी खाद पौधे को सहायता प्रदान करती है।

Earthworm manure

केंचुआ खाद के बारे में तो आप सभी लोगों ने कहीं ना कहीं तो जरूर सुना होगा जैसा कि हमारे हिंदी में एक कहावत है कि केंचुआ किसान का मित्र होता है इसका तात्पर्य यह है कि केंचुए से बनी खाद को यदि हम अपने खेत में डालते हैं तो हमारी खेत की उम्र क्षमता दोगुनी से बहुत ज्यादा हो जाती है जिससे कि हमारी फसल भी अच्छी होती है तथा हमें उसमें पैदावार पर बहुत अच्छी देखने को मिलती है। केंचुआ खाद को आप घर पर भी तैयार कर सकते हैं और बाजार से भी खरीद सकते हैं परंतु मेरा यही कहना है कि यदि आपके केंचुआ की खाद को घर पर तैयार करते हैं। तो यह सबसे फायदेमंद रहेगी क्योंकि हम उसे अपने हिसाब से घर पर तैयार कर सकते हैं तो उसमें सभी पदार्थों की मात्रा को सही रूप से खाद में मिला सकते हैं। जो कि हमारी भूमि की पैदावार बढ़ाने में बहुत सहयोग करेगा।

Pesticide manure

जैसा कि आपने बहुत बार देखा होगा कि हमारी फसल पर बहुत सारे कीड़े मकोड़े आते हैं जिससे कि हमारी फसल नष्ट हो जाती है इसकी समाधान के लिए आप कीटनाशक हाथ को घर पर बहुत ही आसानी से तैयार कर सकते हैं इसको तैयार करने के लिए आपको पहले एक बड़ा सा ड्रम लेना पड़ेगा उसको आधा पानी से पढ़ लीजिए उसमें पानी डालने के बाद आपको 5 किलो गुड़ उस में डाल देना है और उसे अच्छी तरह से पानी के अंदर बोल देना है उसके बाद आपको इसमें लोहे को डाल देना है जीससे की उसमें पूर्ण रूप से पोषक तत्व मिल जाए तथा उसके बाद आप जब खेत में पानी देवों के उस समय आप को पानी में इसे अपने हिसाब से मिला देना है इसे सबसे बड़ा यह फायदा होगा कि कि जो हमारा खरपतवार है वह भी कीड़े मकोड़ों के साथ नष्ट हो जाएगा क्योंकि इसमें ऐसे पोषक तत्व मिले हुए हैं जो कि खरपतवार को गलाने का काम करते हैं यह मुझे सबसे अच्छा लगा क्योंकि यदि हम खरपतवार को बुलाने के लिए रासायनिक पदार्थों का प्रयोग करते हैं तो वह हमारी भूमि की ओर क्षमता को कम करता है और जो उपाय मैंने आपको बताया मैं खरपतवार को तो नष्ट करेगा ही साथ में हमारी भूमि की उर्वरता क्षमता को भी बढ़ा देगा। तुझे भी खास को घर पर बनाने के बहुत सारे फायदे हैं आशा करता हूं कि आपको यह सभी बहुत अच्छी तरह से समझ में आ गए होंगे। आप बहुत कम खर्चे में घर पर तैयार कर सकते हैं। इसके अलावा भी बहुत सारे विधि आपको देखने को मिल जाएगी। जिससे कि आप घर पर खाद तैयार कर सकते हैं।

What To Do For A Good Crop Yield

किसान भाइयों आज की पोस्ट के अंदर हम चर्चा करेंगे कि हम किस प्रकार फसल की पैदावार को बढ़ा सकते हैं व दोगुना मुनाफा कमा सकते हैं। जैसा की आप सभी को पता ही होगा कि अलग-अलग स्थानों पर मौसम के आधार पर अलग-अलग फसलों की बुआई होती है। वह कुछ स्थानों पर मौसम अनुकूल न होने के कारण उस क्षेत्र की फसलें खराब हो जाती है जिससे कि किसानों को बड़ा घाटा होता है। आज हम चर्चा करेंगे कि किस प्रकार फसल को खराब होने से रोक सकते हैं उसके लिए हमें किन-किन तरीकों का प्रयोग करना है मैं किस प्रकार हमें दोगुना मुनाफा मिलेगा आदि यह सभी बातें हम आज इस पोस्ट में चर्चा करने वाले हैं।

Seasonal sowing

जैसा कि आप सभी को मैंने पहले ही बता दिया की अलग-अलग स्थानों पर मौसम के आधार पर फसलों की बुवाई की जाती है हमारा सबसे पहला कदम यही रहेगा हमें मौसम के अनुकूल ऐसी फसलों को बोना है। क्योंकि मौसम के कारण खराब ना हो व उसके अनुकूल हो इसमें निम्नलिखित फसलें आ जाती है जैसे रवि की फसल खरीफ की फसल जायद की फसल आदि कुछ ऐसी फसलें हैं जिन्हें वर्ष में एक बार मौसम के आधार पर ही बुवाई की जाती है।

Proper sowing

मौसम के आधार पर फसल का चयन करने के बाद हमें उस फसल को उगाने के लिए पहले जमीन की बहुत ही अच्छी तरह से बुवाई करनी पड़ेगी पूरी अच्छी तरह से बुवाई किस प्रकार की जाती है इस पर मैंने पहले एक पोस्ट डाल रखी है आप चाहे तो पिछली पोस्ट में जाकर देख सकते हैं। फसलों की बुवाई करने के लिए जमीन को हल्की करनी पड़ती है तथा उसके बाद उसके ऊपर सुहागा फेरकर आप बहुत ही आसानी से फसलों की बुवाई कर सकते हो यह हमारा दूसरा स्टेप था।

Watering Regular Crops

फसलों की बुआई करने के बाद सबसे महत्वपूर्ण काम आता है फसलों को पानी देना यदि हमें नियमित रूप से वह सही समय पर फसलों को पानी नहीं देंगे।तो हमारी फसल की पैदावार में कमी हो सकती है या फिर हमारी फसल पूरी तरह से नष्ट भी हो सकती है इसलिए फसलों को पानी देना बहुत आवश्यक है जिससे कि वह अपनी पोषण क्षमता बहुत ही आसानी से पूरी कर सके।

Using organic manure

जैसा की आप सभी लोगों को पता ही है कि फसल की पैदावार को बढ़ाने के लिए हम सब लोग फसलों में जैविक खादों का प्रयोग करते है। जिससे कि फसल के पौधे जल्दी ही क्रोध करने लगे और उसमें पैदावार भी बहुत अधिक हो हमें भी वही तरीका जमाना है हमें अपनी फसल में जैविक खातों का ही प्रयोग करना है जिससे कि हमारी हमारी जमीन पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ेगा हमारी फसल की पैदावार भी बहुत अधिक होगी

Weed out regularly

खरपतवार को अपने खेतों से निकालना बहुत आवश्यक है क्योंकि आप सभी किसान भाइयों को तो पता ही होगा कि अगर हम खरपतवार को अपने खेत से नहीं निकालेंगे तो यह हमारी फसलों की ग्रोथ को रोक देता है। जिससे कि हमारी फसल उपज में कमी आती है। याद रखें कि आपको खरपतवार को अपने हाथों से ही निकालना है। खरपतवार को निकालने के लिए आपको किसी कीटनाशक का प्रयोग नहीं करना है क्योंकि कीटनाशक के प्रयोग से हमारी जमीन की वर्दी में कमी आती है वह धीरे-धीरे हमारे खेतों में फसलों की उपज बहुत कम हो जाती है। इसलिए आपको कीटनाशक का प्रयोग नहीं करना है।

Full time harvesting of crops

जब आप की फसल पूर्ण रूप से पकड़ जाए तभी आप उसकी कटाई कर लीजिए क्योंकि समय से पहले यदि हम फसलों की कटाई कर लेते हैं तो हमारी उपज में बहुत फर्क पड़ता है। वह हमारी प्रति एकड़ उपज क्षमता भी बहुत कम हो जाती है क्योंकि फसल पूर्ण रूप से पकी हुई नहीं होती है जिस कारण हमारी फसलों में वजन बहुत कम देखने को मिलता है।

Fair price for crops

फसलों की पूर्ण रूप से कटाई करने के बाद अब बारी आती है हमारी फसलों को उचित दामों पर मंडियों में भेजने की आप अपनी फसल को मंडियों में बहुत ही आसानी से भेज सकते हो परंतु आपको अपनी फसल को मंडियों में बेचने से पहले कुछ बातों का विशेष तौर से ध्यान रखना है आपको यह अच्छी तरह से पता कर लेना है कि फसल का मंडी में क्या भाव चल रहा है वह कितने रुपए प्रति कुंतल के हिसाब से फसलें बिक रही है आदि इन सभी बातों का आपको बहुत ही खास तौर से ध्यान रखना है।

Important means of tillage

आज की पोस्ट किसान भाइयों के लिए बहुत ही खास होने वाली है क्योंकि हम इस पोस्ट में खेतीबाड़ी से झूठी सबसे महत्वपूर्ण बात करने वाले हैं आज की इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा की खेत की जुताई किस प्रकार की जाती है जिससे कि हमें ज्यादा से ज्यादा मुनाफा हो और हमारी फसल की पैदावार भी बहुत अधिक हो कुछ किसान भाई ऐसे हैं जो कि किराए पर खेत की जुताई करवाते हैं परंतु जुताई करने वाला उनके खेत की पूरी अच्छी तरह से जुताई नहीं कर पाता है जिससे कि हमें फसल की पैदावार भी बहुत कम देखने को मिलती है। तुम किस प्रकार आपको अपने खेत की जुताई अच्छी तरह से करवानी है आइए उसके बारे में हम मिलकर थोड़ी चर्चा करें।

Main plowing equipment

जैसा की आप सभी को पता ही होगा वर्तमान में खेत की जुताई करने के बहुत सारे यंत्र उपलब्ध है जिसका प्रयोग करके हम बहुत ही आसानी से अपने खेत की जुताई कर सकते हैं परंतु बहुत सारे ऐसे किसान भाई है जो कि उन यंत्र को खरीदने में असमर्थ है मैं आज आपको कुछ ऐसे यंत्र के बारे में बताने वाला हूं जो कि आपको बहुत ही सस्ते प्राइस में मिल जाएंगे और उनका यूज़ करके आप बहुत ही आसानी से अपने खेत की जुताई कर सकते हैं जो यंत्र मैं आपको बताने जा रहा हूं वह लगभग हर काम में उपयोग में लिए जाते है।

Tractor– जैसे आप लोगों को तो पता ही होगा कि खेतीबाड़ी से जुड़े हर क्षेत्र में ट्रैक्टर की आवश्यकता पड़ती है क्योंकि ट्रैक्टर के बिना हम अपने खेत की जुताई भी नहीं कर सकते हैं अपनी फसल को मंडी तक भी नहीं लेकर जा सकते हैंसामान्य तौर पर यह कहा जा सकता है कि अगर ट्रैक्टर नहीं होता तो खेती करना बहुत मुश्किल होता ट्रैक्टर के द्वारा खेती करने आसान हो गई है जिससे कि हम बहुत ही अच्छी तरह से अपनी जमीन की बुवाई कर सकते हैं अच्छी पैदावार ले सकते हैं।वह बहुत ही आसानी से अपने खेत से कचरे को भी हटा सकते हैं। इसके लिए आपके पास टैक्टर का होना बहुत आवश्यक है।

Cultivator-कल्टीवेटर का उपयोग लगभग सभी प्रकार की जुताई में उपयोग में लिए जाते हैं। यह सबसे महत्वपूर्ण यंत्र है। इसका उपयोग का बहुत ही आसानी से कर सकते हैं। इससे जुताई करने के लिए आपको इसे ट्रैक्टर के पीछे जोड़ना पड़ेगा वह उसके बाद इसको जमीन के 7 से 8 इंच अंदर तक चलाना है जिससे कि हमारी फसल की जड़ें बहुत नीचे तक जाएं जिससे कि पौधे की ग्रोथ बड़े वह हमें ऊपर ज्यादा मिले यह सबसे महत्वपूर्ण यंत्र है आप इसको बहुत ही आसानी से अपने आसपास के मिस्त्री मार्केट में जाकर बहुत ही आसानी से खरीद सकते हैं।

Suhaga-सुहागे का उपयोग कल्टीवेटर फेरने के बाद किया जाता है यह जमीन को समतल बना देता है जिससे कि हम अपनी फसल की बुवाई बहुत ही आराम से कर सकते हैं यह भी बहुत ही सस्ते प्राइस में आपको मिस्त्री मार्केट में मिल जाएगा।

Rutavator-रोटावेटर का उपयोग कचरे की बुटाई के लिए किया जाता है यदि आप के खेत में कचरा बहुत अच्छा था होता है और कचर्य के कारण ही आती है आपकोजमीन की बुवाई करने में दिक्कत होती है तो आप रोटावेटर खरीद कर उस कचरे की। बहुत ही आसानी से बुवाई कर सकते हैं।

How to sow

  • अब बारी आती है हमारे मेन टॉपिक है कि हम अपनी जमीन की बुवाई कैसे करें आपके पास यदि रोटावेटर है
  • तो आपको अपने खेत में रोटावेटर से कचरे की बुराई करनी है जब कचरा एकदम साफ हो जाए तब आपको उस पर कल्टीवेटर से बुवाई करनी है कल्टीवेटर आपको हल्के हल्के ही लगाने हैं उसके बाद आपको सौभाग्य का प्रयोग करके अपने जमीन को एकदम बिजाई के लिए तैयार करना है तथा उसके बाद आप अपने हिसाब से,
  • उसमें जो भी पिचाई करना चाहते हैं वह बहुत ही आसानी से कर सकते हैं।
    यह यंत्र उन किसान भाइयों के लिए है। जो रवि और खरीफ की फसलों को उगाते हैं इसके अलावा और भी बहुत सारी फसल है। जैसे आलू की खेती करना गन्ने की खेती करना तो आपको,
  • पता ही होगा अलग-अलग फसलों की बुआई के लिए अलग-अलग यंत्रों का प्रयोग किया जाता है।
  • आपके यहां जिस की भी खेती होती है उसके अनुसार आप जमीन की बुवाई कर के अच्छे पैदावार ले सकते हैं।

My Favourite Village -Jourwarpura

दोस्तों आज हम जाने वाले हैं जोरावरपुरा गांव के अंदर वहां पर जाने पर हम उसकी प्राचीन काल से जुड़ी गाथाओं के बारे में आवागमन करेंगे और इसके साथ ही इसकी प्राकृतिक सौंदर्य है इसकी प्रसिद्ध कलाकृति इसकी सुंदरता वातावरण अति के बारे में हम इस पोस्ट में चर्चा करने वाले हैं तो चलिए चलते हैं जोरावरपुरा गांव

Shiv templete biggest temple

जोरावरपुरा गांव का सबसे प्रसिद्ध मंदिर शिव मंदिर है कहा जाता है कि यह शिव मंदिर बहुत ही प्राचीन मंदिर है कई सालों से इस मंदिर का निर्माण हो चुका है। जोरावरपुरा गांव में रहने वाले सभी लोग शिव भगवान की सच्चे मन से पूजा करते हैं और बहुत दूर-दूर से लोग इस मंदिर में दर्शन करने के लिए आते हैं। यह मंदिर लगभग 4 से 5 एकड़ में फैला हुआ है। इस मंदिर के साथ ही गौशाला भी है जहां पर की बेसहारा गाय निवास करती है इसके साथ ही वहां पर उन्हें खाना पानी दिया जाता है। जरा पड़ा काम में बहुत सारे मंदिर हमें देखने को मिले हैं उनमें से सबसे बड़ा मंदिर भगवान शिव का है इसके साथ ही हमें यहां पर हनुमान जी का मंदिर बबूता जी का मंदिर कुंवर जी का मंदिरअधिक देखने को मिले हैं तथा हमने उनका भ्रमण भी किया है और उनके दर्शन भी किया है।

Shri Krishn goshala

श्री कृष्ण गौशाला चौराहा की सबसे प्रसिद्ध में सबसे बड़ी गौशाला है इसको सावला की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि गांव के सभी लोग इस गौशाला को चलाने में अपना सहयोग देते हैं तथा समय-समय पर हर जरूरी सामान गायब हो तक पहुंचाते हैं। तथा सभी घर आऊंगा से तहे दिल से गायों की सेवा करते हैं गौशाला का संचालन सभी ग्रामवासी मिलकर करते हैं इसको साला में नियमित रूप से साफ सफाई पर बहुत जोड़ दिया गया है यहां पर आपको स्पाई बहुत अच्छी देखने को मिलेगी इसके साथ ही यहां पर गायों को पोषाहार भी बहुत अच्छा दिया जाता है तथा उनके रहने आदि की व्यवस्था भी बहुत अच्छी की गई है। इसके साथ ही एक और गौशाला है परंतु मैं शिव मंदिर के अंदर ही है वहां पर भी गायों को बहुत अच्छी तरह से रखा जाता है।

Government school and play ground

इसके साथ ही हम गवर्नमेंट स्कूल में भी गए जोरावरपुरा गांव का गवर्नमेंट स्कूल लगभग 8 एकड़ में फैला हुआ है यह गवर्नमेंट स्कूल 12वीं तक है तथा गांव के विद्यार्थी इसी स्कूल में ध्यान करने आते हैं। इस goverment school में लगभग 12 कमरे बने हुए हैं जिसमें विद्यार्थी बैठकर अध्ययन करते हैं। इसके साथ ही गवर्नमेंट स्कूल में बहुत सारे पेड़ पौधे भी लगे हुए हैं चौकी वातावरण को शुद्ध करने में अपना पूरा सहयोग करते हैं। गवर्नमेंट स्कूल के अंदर ही खेलने के लिए प्लेग्राउंड बनाया गया है जहां पर शाम को बहुत से खिलाड़ी खेल खेलते हैं। इसके साथ ही गोरमेंट स्कूल में विद्यार्थियों को हर्ष विद्या प्रदान की जाती है जिन्हें होगी उन्हें आवश्यकता है।

Largest nursery in this village

इस गांव के सबसे खास बात यह है कि इसमें लगभग 4 एकड़ में फैली हुई नर्सरी है जिसमें की बहुत सारे पेड़ पौधे लगे हैं जो कि इस गांव को शुद्ध शुद्ध रखने में अपना पूरा सहयोग करते हैं। इसके साथ ही यह गांव सूरतगढ़ नहर के किनारे बसा हुआ है जिससे कि पीने की समस्या इस गांव में कभी नहीं होती है इस गांव से बाहर जाने और अंदर आने के लिए नहर पर एक पुल बनाया गया है जिस का यूज करके हर व्यक्ति गांव से पार जा सकता है और आ सकता है।

Many store available

इस गांव में आपको बहुत सारी दुकानें देखने को मिल जाएगी जो कि हमारी दैनिक जीवन में उपयोगी सामान की होती है। यहां पर आपको हर प्रकार की दुकानें देखने को मिल जाएगी इसके साथ ही यहां पर 5 से 6 डॉक्टर डॉक्टर भी आपको देखने को मिल जाएंगे जो कि गांव के व्यक्तियों का इलाज करते हैं और उन्हें सुविधा पहुंचाते हैं। इस गांव में रहने वाले लगभग सभी व्यक्ति किसान हैं वह खेती बड़ी करके ही अपना घर चलाते हैं तथा कुछ लोग अपना प्राइवेट बिजनेस पे करते हैं और कुछ लोग गवर्नमेंट जॉब्स में भी लगे हुए हैं। इसके साथ ही इस गांव में चिकित्सालय भी उपलब्ध है जोकि लोगों को स्वस्थ रखने में अपना पूरा सहयोग करता है इसके साथ ही यहां पर आपको पशु चिकित्सालय देखने को भी मिल जाएगा जहां पर पशुओं का इलाज किया जाता है तो दोस्तों आपको यह गांव कैसा लगा कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं

My Travel History -Bikaner

दोस्तो आज में आपको अपनी बीकानेर की ट्रैवल हिस्ट्री के बारे में बताने जा रहा हूं। इस पोस्ट में हम बीकानेर ऐतिहासिक स्थलों के बारे में बात करेंगे। वो किस कारण प्रसिद्ध है। और उनकी क्या-क्या विशेषताएं हैं। आदि इन सभी विषय पर हम चर्चा करेंगे।

Ready To Go Bikaner

मैंने अपने कुछ दोस्तो के साथ बीकानेर जाने का प्लान बनाया। हमारी बस रात को 8 बजे थी हम सभी लोग बस स्टैंड पर टाइम से पहले ही पहुंच गए थे। आठ बजकर 5 मिनट पर हमारी बस आ गई और हम सभी लोग बस में बैठ गए हम सभी लोग बहुत खुश थे। रास्ते में बस एक ढाबे पे रुक गई वहां पर हमने चाय पी और थोड़ा बहुत नाश्ता भी किया उसके बाद हम सभी फ्रेश हुए और वापस बस में आकर बैठ गए थोड़ी ही समय बाद बस चली अभी बीकानेर 300 किलोमीटर दूर था हम सभी दोस्त आपस में बात कर रहे थे और सुबह 5:00 बजे हमारी बस बीकानेर पहुंच गई थी। हम सभी लोग बस से नीचे उतर गए और वहां पर हमारा एक दोस्त पहले से ही अपनी गाड़ी लिए हुए हमारा इंतजार कर रहा था हम सभी लोग गाड़ी में बैठ गए और फिर हम लोग एक होटल में चले गए वहां पर जाने के बाद हमने एक कमरे को बुक किया। हमने नहाना धोना किया और फ्रेश होने के बाद हमने थोड़ा नाश्ता भी किया उसके बाद हमारे बीकानेर घूमने की यात्रा स्टार्ट होती है।

junagarh fort is best place

और फिर सुबह के 8:00 बजे हम बीकानेर में घूमने के लिए रवाना हो गए हमने सबसे पहले बीकानेर के सबसे प्रसिद्ध प्राचीन किला जूनागढ़ में गए वहां का दृश्य बहुत ही सुहाना था हम सभी लोगों ने वहां पर बहुत अच्छी अच्छी फोटो खींची वहां पर प्राचीन काल के बहुत ही उपयोगी सामान था जो कि हमें देखने का अवसर मिला। जूनागढ़ का किला लगभग 40 एकड़ में फैला हुआ है।विदेशों से लोग इस किले का भ्रमण करने के लिए आते हैं यह प्राचीन काल से ही बहुत महत्वपूर्ण रहा है कहा जाता है।बीकानेर के तत्कालीन महाराजा गंगा सिंह ने इसका निर्माण करवाया था जो कि मुगलों द्वारा आक्रमण किए जाने में बचाव का सबसे महत्वपूर्ण साधन बना था। यह किला आज भी अपने प्राचीन काल की महत्वपूर्ण के कारण प्रसिद्ध है। अगर आप भी जीवन में कभी बिकानेर आए तो जूनागढ़ किले का जरूर भ्रमण कीजिए जरूर कि आपको प्राचीन काल के राजा महाराजाओं आदि के बारे में अवगत करवाएगा। इसके साथ ही यह किला रक्षा के लिए प्रसिद्ध है।

Taj Hotel Is biggest place

ताज होटल बीकानेर काका सबसे बड़ा प्रसिद्ध होटल है। यह होटल लगभग 20 एकड़ में फैला हुआ है।
इस होटल में बहुत सारी कमरे हैं इसमें आपको पार्किंग सुविधा भी बहुत अच्छी देखने को मिल जाएगी इसके साथ ही इस में लगभग 2000 लोग काम करते हैं जो कि आपको किसी भी चीज की कमी नहीं आने देंगे इसके साथ ही इस में खेलने कूदने जिम आदि सभी सुविधाएं आपको देखने को मिल जाएगी।बहुत सारे लोग इस होटल की कलाकृति को देखने के लिए आते हैं यह होटल लोगों के मन में भावनाओं को प्रेरित करता है। और साथ ही यह अपनी खूबसूरती के कारण प्रसिद्ध है।हम सभी लोग भी इस होटल में गए सबसे पहले हमने इस होटल में खाना खाया इसकी सबसे बड़ी खास बात यह है कि इसमें आपको खाना प्राचीन सभ्यता के अनुसार भरोसा जाएगा जो कि हमारी प्राचीन परंपरा को उजागर करता है इसके बाद हमने इस का भ्रमण किया और हमें बहुत अच्छा लगा।

Green Garden is best park

इसके बाद हम लोग ग्रीन गार्डन नामक एक पार्क में गए वहां पर हमने बहुत सारी फोटो उसके नीचे और उसके साथी हमने बहुत मनोरंजन भी किया। वहां पर हमें खेलने कूदने की बहुत सारी चीजें देखने को मिली वहां पर बच्चों के लिए भी विशेष दूर से जुड़ी बनाए गए थे जिस पर कि बहुत सारे बच्चे झूला झूल रहे थे और वहां पर बहुत सारे फूलों के पौधे भी थे क्योंकि अपने रंग बिरंगे आकारों के कारण वह लोगों का मन भावित कर रहे थे। इसके साथ ही वहां पर बहुत सारे पेड़ होते भी लगे हुए थे और उनसे पत्ते झड़ रहे थे वहां पर हमने बहुत सारे पक्षियों को भी देखा यहां पर आने के बाद हमने बहुत मनोरंजन किया और उसके बाद हम बीकानेर के विभिन्न स्थानों पर गए प्रसिद्ध तीर्थ स्थलों पर गए और मंदिरों में गए वहां पर सके हमने सभी का अनुसरण किया इसके साथ ही मनोरंजन भी किया उसके बाद हम सभी दूसरे दिन रात को वहां से वापस कर के लिए रवाना हुए अगली सुबह हम सभी लोग अपने घर आ गए तो दोस्तों हमारे बीकानेर की यात्रा आपको कैसी लगी कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं।

How to buy tractor-my steps

हेलो दोस्तों तो कैसे हैं आप सब आशा करता हूं कि आप सब एकदम अच्छे होंगे आज का हमारा टॉपिक होने वाला है कि हम एक ट्रैक्टर को कैसे खरीद सकते हैं जो कि हमारे सभी कार्यों में काम आए और हम बहुत ही आसानी से अपना सभी कार्य कर सकें यह पोस्ट खासतौर से किसानों के लिए है बहुत से ऐसे किसान भाई है जो ट्रैक्टर खरीदना चाहते हैं परंतु उन्हें यह नहीं पता होता कि हमें कौन सा ट्रैक्टर लेना चाहिए। जो कि हमारे बजट के अनुसार हो और अपने कार्यों को भी बहुत ही आसानी से कर सकें। इसके लिए निम्नलिखित शर्ते हैं चलिए उन पर हम थोड़ी चर्चा करते हैं।

jameen ki buvai ke anusar

दोस्तों यह ट्रैक्टर खरीदने में बहुत महत्वपूर्ण है हमें छोटी से छोटी बात को ध्यान में रखना होता है जिसके द्वारा हम एक अच्छा सा ट्रैक्टर खरीद सकते हैं। दोस्तों अगर आपका खेत बहुत बड़ा है या फिर आप जमीन को ठेके पर लेकर बुवाई करते हैं तो आपको 45 से 50 हॉर्स पावर का ट्रैक्टर ही लेना है जो कि आपके काम को बहुत ही आसानी से करने में सक्षम हो और उसकी डीजल खपत क्षमता भी बहुत कम हो जिससे कि आप बहुत ही आसानी से अपने सभी कार्य कर सकते हैं। आप ट्रैक्टर नया ले सकते हैं और सेकंड हैंड ट्रैक्टर भी आपको बहुत ही आसानी से बहुत सारी कंपनी के देखने को मिल जाएंगे जिन्हें आप बहुत ही सस्ते प्राइस में खरीद सकते हैं।

35-40 Houspower tractor

दोस्तों यदि आप 5 से 10 बीघा जमीन की बुवाई करते हैं तो आपके लिए 35 से 40 हॉर्स पावर का ट्रैक्टर सबसे अच्छा रहता है जो कि आपको बहुत ही आसानी से कम प्राइस में देखने को मिल जाएगा और आप उसे बहुत ही आसानी से खरीद भी सकते हैं और अपनी जमीन की बुवाई भी कर सकते हैं इसके लिए आप महिंद्रा 265 खरीद सकते हैं जिसकी डीजल खर्चा बहुत ही कम है और इसमें हॉर्स पावर भी आपको बहुत अच्छे देखने को मिल जाएंगे जिससे कि आप अपने घर की बुवाई को बहुत ही आसानी से पूरा कर सकते हैं यह टैक्टर आपको छोटे बड़े कार्यों में काम आ जाते हैं जो कि एक किसान के लिए सबसे अच्छी बात है।इसके लिए आप नया ट्रैक्टर खरीदना चाहते हैं तो आप कंपनी से नया ट्रैक्टर भी ले सकते हैं नहीं तो आपको सेकेंड हैंड ट्रैक्टर भी बहुत ही सस्ते प्राइस में देखने को मिल जाएगा।

40-45 Houspower tractor

यदि आप अभी से 30 बीघा जमीन की बुवाई करते हैं तो आपके लिए 40 से 45 हॉर्स पावर का ट्रैक्टर बहुत ही अच्छा रहेगा जो कि आप के सभी कार्य भी आसान करेगा ही साथ में आप बहुत ही जल्द सभी कार्य कर सकते हैं। एशिया अपने आप भी खरीद सकते हैं और पुराना भी खरीद सकते हैं दोनों पेरेंट्स में है आपको देखने को मिल जाएगा।

buy some condition

आपको टाइगर खरीदने से पहले निमन सावधानियों को ध्यान में रखना होगा आप अगर नया ट्रैक्टर खरीदते हैं तो सबसे अच्छी बात है उसमें आपको कोई भी एक खराबी देखने को नहीं मिलेगी यदि आपको कोई भी खराब ही देखने को मिलती है तो आप कंपनी वालों से कह कर बहुत ही आसानी से उसे फ्री में ठीक करवा सकते हैं क्योंकि हम जब भी नया ट्रैक्टर खरीदते हैं तब हमें 2 साल की वारंटी दी जाती है 2 साल के अंदर यदि हमारे ट्रैक्टर में कोई भी खराबी होती है तो उसे कंपनी खुद ठीक करके देती है। परंतु यदि हम पुराना ट्रैक्टर खरीदने हैं तब हमें कुछ सावधानियां बरतनी होती है। जिसके आधार पर हम बहुत ही आसानी से हमारे उपयोग के आधार पर एक ट्रैक्टर को खरीद सकते हैं पुराना ट्रैक्टर खरीदते समय आपको हमेशा ध्यान में रखना है कि उसमें कोई भी खराबी ना हो उसे आपको पूरी अच्छी तरह से पढ़ना है आप चाहे तो उसे एक बार चला कर भी देख सकते हैं और उसके इंजन पंप गेयर आधे को पूरी अच्छी तरह से चेक करना है।तथा आपको टैक्टर जिस बजट का लगता है आपको उतने ही  में वह ट्रैक्टर खरीदना है जिससे कि हमें घाटा भी नहीं होना चाहिए और हम अपने कार्य के लिए एक ट्रैक्टर भी खरीद लें तो इन सभी बातों का आपको पूरी अच्छी तरह से सावधानियां रखनी है जिससे कि आप बहुत ही सस्ते प्राइस में अपने लिए एक ट्रैक्टर को खरीद सकते हैं।

How to start a pesticides shop

हम बात करने वाले हैं How to start a pesticides shop के बारे में आज में आपको बताऊंगा कि किस प्रकार पेस्टिसाइड्स की शॉप स्टार्ट कर सकते हैं। और किन किन बातों का विशेष तौर से ध्यान रखना है। और शॉप को स्टार्ट करने से पहले आपको किन किन वैरायटी को अपने शॉप में रखना है। इन सभी का विवरण आज हम इस पोस्ट में करने वाले है। तो चलिए अब हम लोग आगे बढ़ते हैं।

Get experience to start a shop

आपको तो पता ही होगा हम किसी भी कार्य को तभी पूर्ण कर सकते हैं। जब  हमारे पास उस कार्य को करने का अनुभव होता है। आपको भी यही बात अपने दिमाग में रखनी है। और आप अपनी पेस्टिसाइड शॉप को स्टार्ट करने से पहले पेस्टिसाइड्स के बारे में आपको एक्सपीरियंस लेना है। आप चाहे तो पेस्टीसाइड के ट्रेनिंग सेंटर में जाकर वहां से ट्रेनिंग ले सकते हैं। या फिर अपने मित्र भंडार से मिलकर भी उनसे बहुत अच्छी सलाह ले सकते हैं जो कि आपको बाद में बहुत काम आने वाली है याद रहे कि आपको पेस्टिसाइड की शॉप उसी स्थान पर करनी है जहां पर किसान ज्यादा संख्या में एकत्रित होते हैं जो कि सामान्य तौर पर धान मंडी में किसान बहुत ज्यादा एकत्रित होते है तो आपको धान मंडी या उसके आसपास वाली जगह पर ही अपनी पेस्टिसाइड शॉप को स्टार्ट कर दिया आपकी शायरी कि अधिक बिक्री हो और आप हो मुनाफा कमा सकें। इसके अतिरिक्त आप पार्टनरशिप के द्वारा भी पेस्टिसाइड सॉन्ग को स्टार्ट कर सकते हैं जिससे कि आपको कार्य को संभालने में आसानी हो और आपकी सोच बहुत अच्छी तरीके से चलती रहे हैं।

best deal for company

आपको कंपनी वालों से बहुत अच्छी दिन करनी होंगे याद रहे आप हमेशा किसानों को बहुत ही सस्ते दामों में बहुत ही अच्छी क्वालिटी की दवाइयां है प्रदान करें जिससे की चादर आपकी शॉप की तरफ अट्रैक्टिव हो और आपकी शान गिरी प्रतीक दिखे आप एक सकारात्मक सोच को लेकर आपको कार्य करना है आपको बहुत ही जल्द इसमें रिजल्ट देखने को मिल जाएगा इसके साथ ही आप उधार खाता आदि को भी साथ में चालू रखिए यदि आपकी जॉब नहीं है तो शुरुआत में आप बहुत ही कम लोगों को उधार प्रदान करें उन लोगों को उधार तभी प्रदान करें जब किसी सलाहकार ने आपको उधार डालने के लिए कहा है। यह उसके चरित्र को दर्शाता है। इन सभी बातों का आपको विशेष तौर से ध्यान रखना है और उसके बहुत और अपने अशोक को बहुत ही आसानी से स्टार्ट कर सकते हो स्टार्ट करने के बाद भी आपको बहुत सारी बातों को ध्यान में रखना है।

store useful items

आपको अपनी दुकान में सबसे ज्यादा यूज होने वाली सामान ही रखना है। चाहे वो कीटनाशक हो रसायनिक पदार्थ हो या फिर जैविक खाद हो आपको हमेशा अच्छी क्वालिटी की ही चीजें अपने शॉप में रखना है। जिनका प्राइस भी बहुत कम हो। इससे क्या होगा कि बहुत सारे लोग आपकी शॉप की तरफ अट्रैक्टिव होंगे जिससे आपको बहुत ज्यादा मुनाफा होगा आपको पूरी मेहनत और लगन के साथ अपने कार्य में ध्यान देना है। अपनी दुकान को स्टार्ट करने के लिए आपको निबंध श्याम गिरी की आवश्यकता पड़ेगी।
1. दवाइयां-आपको अपने दुकान में खेतीबाड़ी से संबंधित सभी प्रकार की दवाइयों को अपनी दुकान में स्टोर करना है। वह आपके पास हर प्रकार की दवाई का स्टॉक होना बहुत आवश्यक है। जिससे कि किसान को भटकना न पड़े और उसे दवाइयां बहुत ही आसानी से उपलब्ध हो जाए। खेतीबाड़ी से संबंधित बहुत सारी दवाइयां आती है जो कि अलग-अलग कंपनी की होती है आपको हाई अथॉरिटी वाली कंपनी से ही सामान मंगवाना है तथा उनकी ही दवाइयों को अपनी दुकान पर रखना है।
2. रासायनिक खाद-आपको अपने दुकान में रसायनिक खाद को स्टॉक करके रखना है रसायनिक हाथ में आपको यूरिया डीएपी पोटाश फास्फेट सोडियम आदि इन सभी को पूर्ण रूप से स्टॉक करना है इसके लिए आप अलग से गोदाम की व्यवस्था भी कर सकते हैं।
3.-जैविक खाद-आपको अपनी दुकान पर जैविक खाद से संबंधित सामान भी रखना है क्योंकि कुछ ऐसे किसान होते हैं जो कि अपनी फसल में रसायनिक उपकरणों का इस्तेमाल नहीं करते हैं वह जैविक खेती करते हैं तथा जैविक खेती से संबंधित सभी श्याम गिरी को आपको अपनी दुकान में स्टॉक करके रखना है।